शुक्रवार, 7 अगस्त 2009

सदियों से इंतजार है...........................



सदियों से तेरा इंतजार है हमें बस तुमसे प्यार है
तेरा नशा तेरी आरजू तेरा ही तस्सब्बुर मुझ पर सवार है
तुझे देखा तो एक टीससी उठी दिल में मुझ पर छाया तेरा खुमार है
दुनिया ने कहा बेवफा होती हैं सारी हसीनाएं ,
लेकिन मुझे तुझ पर ऐतबार है
मुझे बस तुझसे प्यार है, जुबाँ कुछ कह न सके दिल सिर्फ सोंचता ही रहा, आँखों ने किया इकरार है !
सदियों से तेरा इंतजार है मुझे बस तुझ से प्यार है.............

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं

अपना अमूल्य समय निकालने के लिए धन्यवाद
क्रप्या दोबारा पधारे ! आपके विचार हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं !