शुक्रवार, 14 अगस्त 2009

हिन्दोस्तान हमारा....................


कोयल की कू कू से
नदियों के कल कल से
आती है आवाज़ यही, सबसे प्यारा "हिंदुस्तान" हमारा
तीन रंगों वाला तिरंगा हमारी शान है
"सत्य" " अहिंसा" और "धर्म" भारत की पहचान है
राम, कृष्ण, बुद्ध, कणाद ने यहीं औतार लिया
सत्य राह दिखाई हमें, हमारा उद्धार किया
सत्य की रक्षा यहाँ की पूजा मानवता यहाँ का धर्म है रहे एकता सदा अटल
करतें ऐसा कर्म हैं
जाती पांति उंच नीच से दूर यहाँ सभी धर्मो का "मर्म" है
देख ले कोई साडी दुनिया, पर न पाएगा ऐसा नजारा
सबसे प्यारा सबसे न्यारा हिन्दुस्तान हमारा

5 टिप्‍पणियां:

  1. सबसे प्यारा सबसे न्यारा भारत देश हमारा...जय हिंद !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बहुत ही भावपूर्ण कविता..
    देशभक्ति से ओतप्रोत..
    बधाई हो

    उत्तर देंहटाएं
  3. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ। जय श्री कृष्ण!!
    ----
    INDIAN DEITIES

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच्ची और अच्छी कविता...जय हिंद.
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं

अपना अमूल्य समय निकालने के लिए धन्यवाद
क्रप्या दोबारा पधारे ! आपके विचार हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं !